शारीरिक व्यायाम पर निबंध | Essay on Exercise in Hindi

  • Post author:
  • Post category:Essay

आज का यह निबंध शारीरिक व्यायाम पर निबंध (Essay on Exercise in Hindi) पर दिया गया हैं। आप इस निबंध को ध्यान से और मन लगाकर पढ़ें और समझें। यहां पर दिया गया निबंध कक्षा (For Class) 5th, 6th, 7th, 8th, 9th, 10th और 12th के विद्यार्थियों के लिए उपयुक्त हैं। विद्यार्थी परीक्षा और प्रतियोगिताओं के लिए इस निबंध से मदद ले सकते हैं।

Essay on Exercise in Hindi

Essay on Exercise in Hindi

शारीरिक व्यायाम स्वस्थ शरीर ही जीवन का आनन्द ले सकता है। स्वस्थ शरीर के लिए व्यायाम अवश्यक है। व्यायाम का अर्थ सम्पूर्ण शरीर का गतिमान होना। व्यायाम के द्वारा ही शरीर के सभी अंगों का गतिमान होना संभव है।

 

हम कुछ कार्य करने को पैदा हुए हैं। जीवन को अर्थपूर्ण बनाने के लिए स्वस्थ शरीर की जरूरत है। खराब स्वास्थ्य अभिशाप है। बीमार रहकर हम जीवन का आनन्द नहीं ले सकते। जीवन के वादों को पूरा करने के खातिर सबों को व्यायाम करना चाहिए। व्यायाम सभी के लिए उपयोगी है। यह उनके लिए ज्यादा जरूरी है जो मानसिक श्रम करते हैं। ऐसा इसलिए कि जो लोग शारीरिक श्रम करते हैं उनके अंगों का व्यायाम स्वतः हो जाता है।

 

ये भी पढ़े:- सबेरे उठना पर निबन्ध हिन्दी में

 

व्यायाम खुली हवा में किया जाता है। इसलिए अधिक ऑक्सीजन हमारे शरीर के अन्दर प्रवेश करता है। यह फेफड़ा में प्रवेश करता है। यह रक्त को शुद्ध करता है। व्यायाम के समय शरीर के अन्दर प्रवेश करनेवाला ऑकोजन गति के साथ पूरे शरीर में दौड़ता है। शरीर की गन्दगी पसीना के द्वारा शरीर से बाहर निकल जाती है।

 

अधिक शुद्ध हवा प्रवेश करने के कारण शरीर बिल्कुल साफ-सुथरा हो जाता है। रक्त-संचरण गतिमान होता है। चर्मरोगों से शरीर का बचाव होता है। सभी अंगों का एकसमान पोषण होता है। अंगों का विकास समान रूप से होता है। व्यायाम मानसिक क्षमता को भी बढ़ाता है। यह हमें क्रियाशील एवं स्फूर्तिवान बनाता है। व्यायाम का अभाव हमें सुस्त बनाता है।

 

ये भी पढ़े:- अनुशासन पर निबंध हिन्दी में

 

व्यायाम करने के अनेक प्रकार के हैं। लेकिन इसमें टहलना, दौड़ना, तैरना, घुड़सवारी करना और कुस्ती लड़ना कुछ सर्वोत्तम प्रकार के व्यायाम हैं। कुछ खेल भी हैं जो पूरे शरीर का अच्छा व्यायाम कराते हैं। ये खेल हैं-फुटबॉल, क्रिकेट, हॉकी, टेनिस और कबड्डी आदि।

 

व्यायाम सभी को करना चाहिए। इसे खाली पेट करना चाहिए। सुबह और शाम इसके लिए सर्वोत्तम समय है। इसे खुली हवा में करना चाहिए और व्यायाम के तुरंत बाद नहाना हानिकारक होता है।

 

आज के इस लेख में हमने शारीरिक व्यायाम पर निबंध (Essay on Exercise in Hindi) को विस्तार से पढ़ा और जानकारी प्राप्त किया। इसके अलावा हमने ये भी जाना की व्यायाम कितना जरुरी है शारीर के लिए। हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये लेख बहुत पसंद आया होगा। यदि पसंद आया हो तो कृपया इसे अपने मित्रो और संबंधियों के साथ अवश्य शेयर करें।

Mukul Dev

मेरा नाम MUKUL है और इस Blog पर हर दिन नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी।