शिक्षा का महत्व पर निबंध | Essay on Importance of Education in Hindi

  • Post author:
  • Post category:Essay

आज का निबंध शिक्षा का महत्व पर निबंध  (Essay on Importance of Education in Hindi) पर दिया गया हैं आप इस निबंध को ध्यान से और मन लगाकर पढ़ें और समझें। यहां पर दिया गया निबंध कक्षा (For Class) 5th, 6th, 7th, 8th, 9th, 10th और 12th के विद्यार्थियों के लिए उपयुक्त हैं। विद्यार्थी परीक्षा और प्रतियोगिताओं के लिए इस निबंध से मदद ले सकते हैं।

 

शिक्षा बिना मनुष्य पशु के समान है। वस्तुतः शिक्षा ही मनुष्य की संभावनाओं को उजागर करती है। इसके द्वारा ही मनुष्य का अपना विकास तो होता ही राष्ट्र भी विकसित होता और उन्नति की ओर अग्रसर होता है। शिक्षा के विभिन्न चरण हैं। पहला चरण है साक्षरता दूसरा चरण है पठन-पाठन के साथ समझदारी का विकास और तीसरा चरण है विशेष शिक्षा।

 

इस विशेष शिक्षा के दो रूप हैं-पारम्परिक और तकनीकी शिक्षा। दोनों का अपना-अपना महत्त्व है। वस्तुतः दोनों ही अन्योन्याश्रित हैं। किन्तु आज के प्रसंग में तकनीकि शिक्षा का अपना विशेष महत्त्व है क्योंकि इसका दायरा बड़ा होता जा रहा है और जरूरत भी।

 

ये भी पढ़े :- मेरी प्रिय पुस्तक पर निबंध हिंदी में 

 

तकनीकि शिक्षा का अर्थ है किसी कला या शिल्प का सर्वांगीण ज्ञान। यों तो प्रत्येक क्षेत्र में विशेष ज्ञान अपेक्षित है किन्तु तकनीकी शिक्षा से चिकित्सा, इंजीनियरिंग, प्रबंधन, सूचना, संचार, पत्रकारिता, नाभिकीय ऊर्जा और बायोटेक्नोलॉजी की शिक्षा का ही बोध होता है। पहले यह क्षेत्र सीमित था किन्तु ज्ञान के प्रसार ने और संसार के सिमट जाने से तकनीकी शिक्षा आज की आवश्यकता है।

 

खासकर अपने देश में तकनीकी शिक्षा की आज जितनी आवश्यकता है उतनी पहले कभी नहीं थी। तकनीकी शिक्षा में उदासीनता से हमारी प्रगति का मार्ग अवरुद्ध हो जाएगा। यह अच्छी बात है कि अपने देश में इस ओर ध्यान दिया जा रहा है और महाविद्यालयों विद्यालयों में इस प्रकार की शिक्षा की शुरुआत हो गई है।

 

ये भी पढ़े:- शिक्षक दिवस पर निबंध हिन्दी में 

 

किन्तु अभी भी तकनीकी शिक्षा का ठोस ढाँचा या संरचना तैयार नहीं हुई है। सरकार को और शिक्षण संस्थानों को इस पर विशेष ध्यान देना होगा अन्यथा पुल बनते ही गिर जाएंगे डॉक्टर की कैंची मरीज के पेट में रह जाएगी। मोटर गाड़ियाँ बिना ब्रेक के बन जाएँगी। दवा जहर बन जाएगी और अखबारों में रोग के बदले भोग छपेगा। मजबूत ढाँचा न होने से प्रगति के बदले अवनति होगी। अतएव, तकनीकी शिक्षा के पहले इसका सुदृढ़ ढाँचा तैयार करना चाहिए तभी इच्छित लक्ष्य की प्राप्ति होगी।

Mukul Dev

मेरा नाम MUKUL है और इस Blog पर हर दिन नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी।