समय का सदुपयोग निबंध | Essay on Importance of Time in Hindi

  • Post author:
  • Post category:Essay

आज के इस पोस्ट में  समय का सदुपयोग निबंध (Essay on Importance of Time in Hindi) पर निबंध दिया गया हैं आप Essay on Importance of Time in Hindi को ध्यान से और मन लगाकर पढ़ें और समझें। यहां पर दिया गया निबंध कक्षा (For Class) 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8,9.10 और 12 के विद्यार्थियों के लिए उपयुक्त हैं।

समय का सदुपयोग निबंध

निबंध न.1 – 400 शब्द

कहते हैं समय अमूल्य धन है। यह प्रत्येक मनुष्य को बिना धन दिए प्राप्त होता है, किन्तु किसी भी कीमत पर इसे लौटाया नहीं जा सकता। एक बार जाकर यह फिर वापस नहीं आता। इसीलिए महात्मा कबीर ने कहा है-काल करे सो आज कर, आज करे सो अब। पल में प्रलय होगी बहोरि करोगे कब? समय अत्यन्त महत्त्वपूर्ण है। समय से ही ऋतुएँ आती-जाती हैं, समय पर ही फल-फूल आते हैं, सूरज और चाँद भी अपने समय पर ही उदय-अस्त होते हैं। इनमें कहीं व्यवधान नहीं होता। यही कारण है कि प्रकृति कायम है। 26 जैसे प्रकृति में समय की महत्ता है, वैसे ही मानव के लिए भी समय महत्त्वपूर्ण है।

 

सच कहें तो मानव-जीवन की सफलता का रहस्य भी समय के समुचित उपयोग में ही छिपा है। सबको समान रूप से दिन के चौबीस घंटे उपलब्ध होते हैं, जो इनका उपयोग करते हैं वे अब्राहम लिंकन, स्वामी विवेकानन्द और गाँधी बनते हैं। जो इस समय को सोने, मौज-मस्ती करने, बुरी बातें सोचने और करने में गुजारते हैं वे गुमनामी में खो जाते हैं या बदनामी ओढ़ लेते हैं। वे जिन्दगी भर झखते और पछताते हैं। सचमुच समय निर्मम न्यायाधीश है, जो सबको उनकी करनी के अनुरूप पुरस्कृत या दंडित करता है।

Essay on Importance of Time in Hindi

समय पर काम करने से योग्यता हासिल हो जाती है। योग्य व्यक्ति अपना काम उपयुक्त ढंग से करता है और सफल होता है। लोग उसके गुण गाते हैं। एक प्रसिद्ध लेखक का कहना है कि वह व्यक्ति महान् है जो कहता है कि मेरे पास समय का अभाव है। अतः हमें समय पर सभी काम करने की आदत डालनी चाहिए। क्षण-क्षण का लेखा-जोखा तैयार करना चाहिए और उसी के अनुसार काम करना चाहिए। क्योंकि क्षण से मिनट, मिनट से घंटे और घंटे से दिन, सप्ताह, माह और वर्ष बनते हैं।

 

एक बार नेपोलियन का सचिव देर से पहुंचा। नेपोलियन ने कारण पूछा तो उसने कहा-मेरी घड़ी गड़बड़ हो गई है। ठीक समय नहीं बताती। नेपोलियन ने कहा-‘सुनो, या तो तुम अपनी घड़ी बदल दो अन्यथा मुझे अपना सचिव बदलना पड़ेगा।’ यह है समय का महत्त्व।

Mukul Dev

मेरा नाम MUKUL है और इस Blog पर हर दिन नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी।