भारत की जनसंख्या पर निबंध | Population Essay in Hindi

  • Post author:
  • Post category:Essay

आज का निबंध भारत की जनसंख्या पर निबंध (Population Essay in Hindi) पर दिया गया हैं आप Population Essay in Hindi को ध्यान से और मन लगाकर पढ़ें और समझें। यहां पर दिया गया निबंध कक्षा (For Class) 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8,9.10 और 12 के विद्यार्थियों के लिए उपयुक्त हैं।

Population Essay in Hindi

Population Essay in Hindi

आज देश के सामने सुरसा की भाँति अपना मुँह बाये इसकी आबादी खड़ी है। विकास को इसने सर्वाधिक प्रभावित किया है। आजादी के समय कुल आबादी मात्र तीस करोड़ थी। लेकिन आज देश की जनसंख्या एक सौ दस करोड़ से ऊपर हो गई है। यह आबादी प्रतिमाह दस लाख की दर से बढ़ रही है।

 

वस्तुतः आबादी बढ़ने के कारण हैं – संतान के प्रति लोगों का अत्यधिक मोह, गरीबी और अंधविश्वास। अशिक्षा के कारण परिवार नियोजन का संदेश लोगों के गले के नीचे नहीं उतरता। बाल-विवाह और बहु विवाह से भी आबादी बढ़ी है। अन्य कारण हैं, स्वास्थ्य सेवाओं में वृद्धि के कारण मृत्यु दर में कमी। यही कारण है कि आज देश की प्रगति पर प्रश्न-चिह्न लगा हुआ है।

 

ये भी पढ़े ;- Population Essay in Hindi

 

जितने लोगों के लिए योजना बनती है, योजना पूरी होते-होते, लोगों की आबादी उससे अधिक हो जाती। वस्तुत: जनसंख्या गुणात्मक रूप से बढ़ती है और उत्पादन धनात्मक रूप से। नतीजा है कि अभाव बना का बना रहता है। अगर इसे रोका नहीं गया तो देशवासियों को न खाना मिलेगा, न सोने को जमीन और देश में भयंकर मार-काट मच जाएगी।
एक कवि ने ठीक ही कहा है-

यदि यही रहा क्रम बच्चों के उत्पादन का, तो कुछ सवाल आगे आएँगे बड़े-बड़े।
सोने को किंचित जगह धरा पर नहीं मिले, मजबूरन हम तुम सब सोएँगे खड़े-खड़े।

 

आबादी बढ़ने से बेरोजगारी एवं महँगाई बढ़ी है। फलस्वरूप पूरे मुल्क में अराजकता और अशांति बढ़ी है। नक्सलवाद आदि आन्दोलन आबादी वृद्धि के कारणों में है। आबादी बढ़ने से हर आदमी बेहद आर्थिक दबाव में पड़ गया है। चीजें कम हैं, उपभोक्ता ज्यादा। नतीजा है कि कालाबाजारियों की चाँदी और गरीबों की मौत। जीवन-स्तर पहले से गिर गया है।

इस समस्या को देश के सभी लोगों को गंभीरता से लेना होगा। परिवार-कल्याण के कार्यक्रम को तेजी से लागू करना होगा और परिवार को सीमित रखने के फायदे लोगों को बताने होंगे।

ये भी पढ़े :- भारत की जनसंख्या पर निबंध

Mukul Dev

मेरा नाम MUKUL है और इस Blog पर हर दिन नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी।